राष्ट्रीय-सांस्कृतिक कविता के प्रमुख कवि और उनकी रचनाएं

छायावादी युग में राष्ट्रीय-सांस्कृतिक कविता प्रमुख रूप से लिखी गई।इन कवियों के बारे में हम पिछली पोस्ट में चर्चा कर चुके हैं। आज इस पोस्ट में हम इन कवियों की काव्य कृतियों के संबंध में जानकारी दे रहे हैं:-


  1. माखन लाल चतुर्वेदी (1888-1970): काव्य रचनाएं: 1.हिमकिरीटिनी 2. हिमतरंगिणी 3.युगचरण 4.समर्पण 5.माता 6.वेणु लो गूंजे स्वर।
  2. बालकृष्ण शर्मा 'नवीन'(1897-1960): काव्य रचनाएं: 1.कुंकुम 2. अपलक 3.रश्मि-रेखा 4.क्वासि 5. विस्मृता 6. उर्मिला 7.विनोबा-स्तवन 8. प्रेमार्पण ।
  3. जगन्नाथ  प्रसाद 'मिलिंद'(1907-1986 ): काव्य रचनाएं : 1.जीवन-संगीत 2.नवयुवक का ज्ञान 3.बलिपथ के गीत 4. भूमि की अनुभूति 5. पंखुरियां।
  4. सुभद्राकुमारी कुमारी चौहान(1904- 1947 ): काव्य रचनाएं: 1. मुकुल 2.नक्षत्र 3.त्रिधारा ।
  5. सोहन लाल द्विवेदी (1905-......... ) : काव्य रचनाएं: 1.भैरवी 2.पूजा-गीत 3.वासवदत्ता 4. कुणाल 5.युगारम्भ 6.वासंती 7. बांसुरी 8.मोदक 9. बालभारती। 
  6. रामधारी सिंह 'दिनकर' (1908-1974) : काव्य रचनाएं: 1.रेणुका 2. रसवंती 3. द्वंद्वगीत 4. हुंकार 5. धूपछांव 6.सामधेनी 7. बापू  8.कुरुक्षेत्र 9. रश्मिरथी 10. उर्वशी 11.धूप और धुआँ 12.इतिहास के आँसू 13. नील-कुसुम 14. प्रणभंग । 
  7. उदयशंकर भट्ट( 1898-1964) : काव्य रचनाएं: 1. तक्षशिला 2. राका 3. मानसी 4. विश्वमित्र 5.मत्स्यगंधा 6.विसर्जन 7. युगद्विप 8. यथार्थ और कल्पना 9.अमृत और विष।
  8. उपेन्द्रनाथ 'अश्क' (1910-1989): काव्य रचनाएं: 1. प्रात: दीप  2. ऊर्मियां 3.बरगद की बेटी 4.चांदनी रात और अजगर 5. दीप जलेगा।
  9. अनूप शर्मा (1899-1965 ) : काव्य रचनाएं :1.सिद्धार्थ 2.वर्द्धमान।
  10. पद्म सिंह शर्मा 'कमलेश' (1915-1974 ) : काव्य रचनाएं : 1. दूब के आँसू 2. तू युवक है 3. धरती पर उतरो 4.एक युग बीत गया । 

टिप्पणियाँ

  1. कवि की रचनाओं का बहुत अच्छा परिचय... एक जगह ही सारी जानकारी मिल जाती है!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपका पोस्ट पर आना बहुत ही अच्छा लगा मेरे नए पोस्ट "खुशवंत सिंह" पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. यह ब्लॉग धीरे-धीरे डयरेक्टरी बनता जा रहा है। आभार इस संकलन को प्रस्तुत करने के लिए।

    उत्तर देंहटाएं
  4. मनोज जी,..कवियों और उनकी रचनाओं की जानकारी के बहुत२ आभार,...सुंदर पोस्ट

    मेरी रचना पढ़ने के लिए काव्यान्जलि मे click करे

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत सुन्दर और नयी जानकारी मिली! बेहतरीन प्रस्तुती!

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणी का इंतजार है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आदिकाल के प्रमुख कवि और उनकी रचनाएँ

रीतिकाल की प्रवृत्तियाँ

छायावाद की प्रवृत्तियां